आयुर्वेदिक परिचारिक (नर्सिंग)
  • पाठयक्रम अवधि –03 वर्ष + 06 माह षठमासीय प्रसूति प्रशिक्षण।
  • आयु सीमा –न्‍यूनतम 17 वर्ष तथा अधि‍कतम 25 वर्ष।
  • शैक्षिक योग्यता -उत्‍तराखण्‍ड शिक्षा एवं परीक्षा परीषद अथवा उसके समकक्ष किसी मान्‍यता प्राप्‍त बोर्ड से भौतिक, रसायन व जीव विज्ञान विषयों तथा न्‍यूनतम 40 प्रतिशत अंकों के साथ इण्‍टरमीडिएट उत्‍तीर्ण।
  • परीक्षा प्रारूप -वार्षिक (प्रथम व अन्तिम वर्ष) + 06 माह षठमासीय प्रसूति प्रशिक्षण परीक्षा।
वर्ष विषय पूर्णांक उत्तीर्णांक
लिखित परीक्षा प्रयोगात्‍मक परीक्षा योग लिखित परीक्षा प्रयोगात्‍मक परीक्षा योग
प्रथम सामान्या विज्ञान 100 100 200 50 50 100
शरीर विज्ञान दोष धातु व मल विज्ञान 100 100 200 50 50 100
स्‍वस्‍थ वृत्‍त 100 100 200 50 50 100
जीवाणु परिचय 100 100 200 50 50 100
सामान्‍य परिचर्या 100 100 200 50 50 100
कुल योग (प्रथम वर्ष) 500 500 1000 250 250 500
अंतिम (द्यतीय + तृतीय) द्रव्‍य विज्ञान एवं भैषज्‍य कल्‍पना 100 100 200 50 50 100
सामान्य परिचर्या 100 100 200 50 50 100
विशिष्‍ट परिचर्या 100 100 200 50 50 100
व्‍याधि विज्ञान एवं उपचार 100 100 200 50 50 100
मानस रोग परिचर्या एवं व्‍यवसायिक वृत्‍त 100 100 200 50 50 100
कुल योग (अंतिम वर्ष) 500 500 1000 250 250 500
महायोग (प्रथम व अंतिम वर्ष) 1000 1000 2000 500 500 1000
षठमासीय प्रसूति प्रशिक्षण षठमासीय प्रसूति प्रशिक्षण पाठयक्रम 100 100 200 50 50 100

परीक्षा सम्‍बन्‍धी नियम:

  1. लिखित एवं प्रयोगिक परीक्षा में उत्‍तीर्ण होने हेतु न्‍यूनतम 50 प्रतिशत अंक पृथक-पृथक होने चाहिए।
  2. किसी भी विषय में अनुत्‍तीर्ण होने पर पूरक परीक्षा (सम्‍बन्धित विषय) में सम्मिलित होना होगा।
  3. पूरक परीक्षा हेतु परीक्षा शुल्‍क प्रति विषय लिया जायेगा।
  4. अनुत्‍तीर्ण अभ्‍यर्थी को केवल 02 अवसर प्रदान किये जायेंगे।
  5. कृपांक सम्‍बन्‍धी निर्णय परिषद द्वारा लिया जायेगा।